प्राचीन भारतीय दर्शन और आधुनिक विज्ञान पर सम्मेलन

परम पावन दलाई लामा के निवास स्थल पर आयोजित प्राचीन भारतीय दर्शन और आधुनिक विज्ञान पर सम्मेलन के दौरान उनके तथा साथी प्रतिभागियों के चित्र, धर्मशाला, हि. प्र., भारत, अप्रैल २९, २०१५
View

प्राचीन भारतीय दर्शन और आधुनिक विज्ञान पर सम्मेलन

स्वागत

परम पावन चौदहवें दलाई लामा कार्यालय के आधिकारिक वेबसाइट में स्वागत। परम पावन तिब्बतीयों के सर्वोच्च आध्यात्मिक गुरु हैं। वे प्रायः कहते हैं कि उनका जीवन तीन प्रतिबद्धताओं से निर्देशित है: आधारभूत मानवीय जीवन मूल्यों का विकास अथवा मानवीय सुख के लिए धर्मनिरपेक्ष नैतिकता, धर्मों के बीच समन्वय की भावना और तिब्बती समुदाय के कल्याण का पोषण, जिस में उनकी अस्मिता, संस्कृति तथा धर्म पर केन्द्रितकर उन्हें जीवंत रखना।

यहाँ खोजें कि किस प्रकार परम पावन अपनी प्रतिबद्धताओं को अपनी विभिन्न गतिविधियों, अपने सार्वजनिक वक्तव्यों, व्यापक अंतर्राष्ट्रीय यात्राओं तथा प्रकाशनों से पूरा करते हैं।


 

News RSS Feedनवीनतम समाचार

परम पावन दलाई लामा उच्च तिब्बती अध्ययन महाविद्यालय, सराह के स्नातक समारोह में सम्मिलित हुए परम पावन दलाई लामा उच्च तिब्बती अध्ययन महाविद्यालय, सराह के स्नातक समारोह में सम्मिलित हुए
April 26th 2016
धर्मशाला, हिमाचल प्रदेश, भारत, २६ अप्रैल २०१६ - आज उज्ज्वल वसंत की एक प्रातः थी जब परम पावन दलाई लामा धर्मशाला शहर से होकर नीचे चिलगारी की साफ चाय बागानों से होते हुए गाड़ी से गुज़रे। सराह के उच्च तिब्बती अध्ययन महाविद्यालय (सीएचटीएस) के मार्ग पर जकरांडा वृक्ष पूरी तरह पुष्पित थे और आकर्षक हरे तोतों के झुंड रास्ते पर झपट्टा मार रहे थे।

परम पावन दलाई लामा ने महारानी एलिजाबेथ की ९० वीं वर्षगांठ पर उनका अभिनन्दन किया
April 21st 2016

परम पावन दलाई लामा द्वारा जापान और इक्वाडोर में भूकम्प पीड़ितों के लिए सहानुभूति और समर्थन की अभिव्यक्ति
April 18th 2016

परम पावन दलाई लामा ने केरल मंदिर के अग्नि कांड पर सांत्वना व्यक्त की
April 12th 2016

 

कार्यक्रम


प्रवचन, जून १ से ३ तक, धर्मशाला, हिमाचल प्रदेश, भारतः
परम पावन डोमतोनपा के आत्म प्रेरित श्रद्धा के वृक्ष पर टीसीवी स्कूल सभागार में तिब्बती युवाओं के लिए जून १ से ३ तक प्रातः प्रवचन देंगे। कृपया ध्यान दें कि प्रवचन सभागार के अंदर आयोजित किया जाएगा, जहाँ बैठने की व्यवस्था केवल पंजीकृत छात्रों के लिए आरक्षित की जाएगी। अन्य लोग, जो इनमें सम्मिलित होना चाहते हैं, सभागार के बाहर बैठ सकते हैं जहाँ प्रवचनों का प्रसारण सार्वजनिक उद्घोषणा प्रणाली पर किया जाएगा।

प्रवचन, जून ७ से ९ तक, धर्मशाला, हिमाचल प्रदेश, भारतः
परम पावन नालंदा शिक्षा के अनुरोध पर शांतिदेव के बोधिचर्यावतार पर अध्याय ४ से प्रवचन जारी रखेंगे। संपर्क ईमेलः  shantideva2016@gmail.com

सार्वजनिक व्याख्यान, जून १८, वेस्टमिंस्टर, सीए, संयुक्त राज्य अमेरिका: परम पावन नए द्यू ञु मंदिर में प्रातः पॉवर आफ कम्पेशन एस की टु एकम्पलिशिंग ग्रेटर वेल्यूस टु सेल्फ एंड अदर्स (स्व और अन्य के लिए अधिक से अधिक मूल्यों की प्राप्ति हेतु कुंजी के रूप में करुणा की शक्ति) पर एक सार्वजनिक व्याख्यान देंगे।

 
 

खोजें